योग दर्शन

साऊदी अरब जैसे इस्लामिक देश में योग को मिला खेल का दर्जा

साऊदी अरब जैसे इस्लामिक देश में योग को मिला खेल का दर्जा

 भारत में एक तरफ जहां  योग और धर्म को लेकर विवाद बना हुआ है वहीं दूसरी तरफ इस्लामिक देश साऊदी अरब ट्रेड ऐंड इंडस्ट्री मिनिस्ट्री ने स्पोर्ट्स ऐक्टिविटीज के तौर योग सिखाने को आधिकारिक मान्यता दे दी है। इसके बाद से अब लाइसेंस लेकर योग सिखाया जा सकता है। 

इसके साथ ही साऊदी अरब की पहली योग प्रशिक्षक का दर्जा एक महिला को दिया गया है जिसका नाम नोफ मारवाई। इतना ही नहीं योग को खेल के तौर पर साउदी में मान्यता दिलाने का श्रेय भी नोफ को ही दिया जाता है क्योंकि वो इसके लिए लंबे समय से प्रयास कर रही थी।

भारत में योग: आदि युग से मोदी युग तक

भारत में योग: आदि युग से मोदी युग तक

भारत में योग: आदि युग से मोदी युग तक भारत में योग की परंपरा उतनी ही पुरानी है जितनी कि भारतीय संस्कृति। किसी न किसी रूप में इसके साक्ष्य पूर्व वैदिक काल और हड़प्पा-मोहनजोदड़ो की सभ्यताओं से भी पहले से ही मौजूद रहे हैं। सालों में गिना जाय तो इसका इतिहास 10 हजार साल से भी पुराना बताया जाता है। यूं समझ लीजिए की भारतीय जीवन में योग की साधना हर काल में होती आई है। प्राचीन ग्रंथों के अनुसार योग जीवन को अच्छे ढंग से जीने का विज्ञान है। ये संस्‍कृत के शब्‍द ‘युज’ से बना है, जिसका अर्थ है मिलन, अर्थात् मानवीय चेतना या आत्मीय चेतना का सार्वभौमिक चेतना के साथ सामंजस्य। उस युग में हमारे ऋषि-मुनियों ने

Pages