योगाभ्यास खाली पेट ही क्‍यों करना चाहिए

योगाभ्यास खाली पेट ही क्‍यों करना चाहिए

योगाभ्यास खाली पेट ही क्‍यों करना चाहिए - योगाभ्यास मन और शरीर दोनों को स्वस्थ रखने का अभ्यास है। सुबह का समय इसके लिए सबसे बेहतर होता है। वैसे तो योगा दिन के किसी भी समय में करने से कोई नुकसान नहीं है लेकिन ज्यादातर योग गुरू योगा के लिए सुबह का समय ही बेहतर बताते हैं। सुबह के समय मन शांत होता है और हवा भी शुद्ध होती है। प्राणायाम सांसों का ही अभ्यास होता है। ऐसे में अगर आप चाहते हैं कि शुद्ध हवा के साथ पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन आपके शरीर में जाए तो इसके लिए कोशिश करें कि योगासन के तमाम अभ्यास सूर्योदय से पहले करें। इस दौरान वायुमंडल में ऑक्सीजन की मात्रा ज्यादा होती है। योगा-विशेषज्ञों क

हिमाचल प्रदेश में खुलेगा योग एवं प्राकृतिक चिकित्सा संस्थान

भारत सरकार योग और प्राकृतिक चिकित्सा अनुसंधान

भारत सरकार ने हिमाचल प्रदेश के सोलन शहर में शूलिनी विश्वविद्यालय को 80 लाख रुपये के अनुदान के साथ ही 100 बेड का  के एक योग एवं   प्राकृतिक चिकित्सा अस्पताल को स्थापित करने की मंजूरी दे दी। बुधवार को योग और प्राकृतिक चिकित्सा अनुसंधान (सीसीआरएनएन) की केंद्रीय परिषद ने विश्वविद्यालय को 100-बिस्तरों वाले अस्पताल की स्थापना के लिए 80 लाख रुपये की वित्तीय सहायता दे दी है। विश्वविद्यालय ने अगले शैक्षणिक सत्र से यूजीसी द्वारा मंजूर 5 साल के बैचलर ऑफ नेचुरोपैथी और योगिक विज्ञान (बीएनआईएस) पाठ्यक्रम शुरू करने का भी प्रस्ताव रखा है। 

Pages